Swim from India to UAE with The Futuristic Underwater Train! हिन्दी में




Swim from India to UAE with the futuristic underwater train! हिन्दी में

कल्पना कीजिए कि भारत से यूएई तक पहुँचने के लिए घंटों हवाई यात्रा और विमानो मे मिलने वाले भोजन को आपको नही सहना पड़े तो? केसा हो अगर आप एक ट्रेन मे बैठें और दो घंटे में यूएई के तटों तक पहुँच जाएँ| यूएई के नेशनल एडवाइजर ब्यूरो लिमिटेड में ठीक इसी कल्पना को हक़ीकत मे बदलने का काम चल रहा है|

यातायात के इस बैहद ही उच्च तकनीक वाले साधन के तहत ब्यूरो यूएई फ़ुजैरा शहर को पानी के नीचे रेल नेटवर्क के माध्यम से मुंबई से जोड़ने की और काम कर रहा है, जैसा कि खलीज टाइम्स में उल्लेख किया गया है| न केवल यह साधन यात्रियों के परिवहन मे काम आएगा, बलकि इसका उपयोग सामान और तेल निर्यात का आदान-प्रदान करने के लिए भी किया जा सकता है, जैसा कि अबू धाबी में यूएई-इंडिया कॉन्क्लेव के दौरान ब्यूरो के निदेशक और मुख्य सलाहकार अब्दुल्ला अलशेही द्वारा उल्लेख किया गया था।

Related- क्या है “नमस्कार” के पीछे छुपा वैज्ञानिक रहस्य?




Swim from India to UAE with The Futuristic Underwater Train! हिन्दी में
Swim from India to UAE with The Futuristic Underwater Train! हिन्दी में

अब्दुल्ला अलशेही ने व्यवसायियों और उद्योग विशेषज्ञों की एक सभा मे बताया की “यह अभी एक परिकल्पना है। हम अल्ट्रा स्पीड फ्लोटिंग ट्रेनों के माध्यम से मुंबई के भारतीय शहर को फ़ुजैरा से जोड़ने की योजना बना रहे हैं। इस परियोजना का उद्देश्य द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देना है। फ़ुजैरा बंदरगाह से भारत को तेल का निर्यात होगा और नर्मदा नदी से अतिरिक्त पानी का आयात होगा। इसके अलावा, अन्य जीसीसी भागीदार निर्यात और आयात में भी सुधार कर सकते हैं,”|

Related – रूपकूंड झील – भारत की एक झील जिसमे तैरते है कंकाल!

रेल नेटवर्क की कुल लंबाई 2,000 किमी से कम होगी, लेकिन पानी के नीचे के हिस्से को अद्वितीय चुनौतियों का सामना करना पढ़ सकता है, इसमे अभी और भी बहुत सारे पहलुओं पर विचार करने की आवश्यकता होगी। “हम परियोजना की व्यवहार्यता का अध्ययन करेंगे। यह अभी एक परिकल्पना है लेकिन देखा जाए तो एक बड़ी ही दिलचस्प परियोजना है|” उन्होंने कहा।

अलशेही ने कहा कि द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इस क्षेत्र में यूएई, भारत और अन्य लोगों को फायदा होगा।

Related- जतिंगा! भारत का एक गाँव जहा सेकड़ो पक्षी हर रात करते है आत्महत्या!

वर्तमान मे भारत और भी एसी कई परियोजनाओ पर काम कर रहा है जो की यातायात की परिभाषा बदल देगी, जैसे के हायपरलूप और बुलेट ट्रेन| अब देखना यह होगा की क्या इस परियोजना को दिन का उजाला नसीब होगा? या फिर यह एक परिकल्पना ही बन कर रह जाएगी| क्या यह परियोजना चालू होने के बाद इसमे निवेश किए गये समय और पैसे के लायक फ़ायदा पहुचा पाएगी? ऐसे बहुत से सवाल है जिनका जवाब हमे समय के साथ ही मिलेगा|




Categories: Sci / Tech

Tags: ,,,,,

Leave A Reply

Your email address will not be published.